Junaid Jumshed Naat Lyrics - फेमस नात

 

तीन फेमस जुनैद जमशेद नात –

 

जुनैद  जमशेद पाकिस्तान के मशहूर सिंगर और एक्टर थे ,अपनी शुरुवाती ज़न्दगी में नाच – गाने में मुलाविस थे,फिर अल्लाह रब्बुल इज्ज़त ने उनको हिदायत से सरफ़राज़ किया  और गाना – बजाने को हमेशा ले लिए तौबा कर दिया |दीनी ज़िन्दगी में बहुत से नात -नज़म पढ़े जो पूरी दुनिया में लोगों ने पसंद किया 

अल्लाह के रास्ते में जब एक इस्तमा से लौट रहे थे तो एक  प्लेन क्रेश में वो शहीद हो गए |(अल्लाह उनकी मगफिरत फरमाए )

 

नात लिरिक्स  – 

(1) मैं तो उम्मती हु ए शाहे उमम –

 

मैं तो उम्मती हूँ ए शाहे उमम

मैं तो उम्मती हूँ ए शाहे उमम

 

कर दे मेरे आका अब नज़रे करम

मैं तो बे सहारा हूँ दामन भी है ख़ाली

नबियों के नबी तेरी शान है निराली

 

मैं तो उम्मती हूँ ए शाहे उमम

कर दे मेरे आका अब नज़रे करम

 

ग़म के अंधेरों ने यूँ घेरा हुवा है

आका दुशवार अब जीना मेरा हुवा है

बिगड़ी बना दो मेरी तैबा के वाली

नबियों के नबी तेरी शान है निराली

 

मैं तो उम्मती हूँ ए शाहे उमम

कर दे मेरे आका अब नज़रे करम

 

जिसको बुलाया गया वोही अरशे बरीं है

आप के सिवा ऐसा कोई नहीं है

जिसकी न बात कोई रब ने भी टाली

नबियों के नबी तेरी शान है निराली

 

मैं तो उम्मती हूँ ए शाहे उमम

कर दे मेरे आका अब नज़रे करम..

 

 

(2)  मेरा दिल बदल दे –

 

मेरा दिल बदल दे | मेरा दिल बदल दे

बदल दे दिल की दुनिया दिल बदल दे

 

मेरा गफ़लत में डूबा दिल बदल दे

हवा ओ हिर्स वाला दिल बदल दे

मेरा गफ़लत में डूबा दिल बदल दे

बदल दे दिल की दुनिया दिल बदल दे

 

खुदाया फजल फरमा दिल बदल दे

गुनाह गारी मैं कब तक उम्र काटूँ

बदल दे मेरा रस्ता दिल बदल दे

सुनूँ मैं नाम तेरा धर्कानों में

मज़ा आजाए मौला दिल बदल दे

 

हटालूं आँख अपनी मा सिवा से

जियों में तेरी खातिर दिल बदल दे

करूं कुर्बान अपनी साड़ी खुशियाँ

तू अपना गम अता कर दिल बदल दे

 

सहल फरमा मुसलसल याद अपनी

खुदाया रहम फरमा दिल बदल दे  

परा हूँ तेरे दर पर दिल शिकस्ता

रहूँ क्यों दिल शिकस्ता दिल बदल दे

तेरे हो जाऊं इतनी आरजू है

 

बस इतनी है तमन्ना दिल बदल दे

मेरी फरयाद सुनले मेरे मौला

बनाले अपना बंदा दिल बदल दे

मेरा दिल बदल दे | मेरा दिल बदल दे

 

(3) मेरे नबी प्यारे नबी – 

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

तू ही शफाअत की अमां ए रहमतुल लिल आलमीन

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

कोई नहीं तुझ सा नहीं ए रहमतुल लिल आलमीन

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

 

ए नबी ए नबी ए नबी  

 

तेरे दर पे आए जो दामन को भर ले जाये वो

उन जालियों की शान क्या एक नज़र हम पर भी हो

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

तू ही शफाअत की अमां ए रहमतुल लिल आलमीन

कोई नहीं तुझ सा नहीं ए रहमतुल लिल आलमीन

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

 

ए नबी ए नबी ए नबी  

 

बादे सबा उनको बता इस दर्द की है क्या दवा

मैं तो मरीज़े इश्क हूँ देगी शफ़ा उनकी अता

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

तू ही शफाअत की अमां ए रहमतुल लिल आलमीन

कोई नहीं तुझ सा नहीं ए रहमतुल लिल आलमीन

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

 

ए नबी ए नबी ए नबी  

 

देख ले मुझ को ज़रा तेरे दर पे हूँ खड़ा

तेरे इश्क़ में रहूँ रात दिन मेरी है बस ये दुआ

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

मेरे नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

कोई नहीं तुझ सा नहीं ए रहमतुल लिल आलमीन

ए नबी प्यारे नबी सुन्नत तेरी दुनियाओ दीन

 

ए नबी ए नबी  ए नबी  

 

 

पोस्ट को share करें

दुआ की गुज़ारिश 

 

Comments