Ek Chugalkhor ka Qissa – झूठा और चुगलखोर का वाकिया

بِسمِ اللہِ الرَّحمٰنِ الرَّحِيم

शुरू अल्लाह के नाम से जो सब पर मेहरबान है बहुत मेहरबान है

 

एक इबरतनाक वाकिया –

एक शख्स ने बाज़ार में देखा के एक आदमी अपना गुलाम बेच रहा है और ये आवाज़ भी लगा रहा है के ये बहुत अच्छा गुलाम है, इसके अन्दर कोई एब नहीं सिवाए ये के ये कभी – कभी चुगली खता है | किसी शख्स ने ये आवाज़ सुनी तो सोचा के उसमे तो कोई एब नहीं है और चुगली खाना तो आम बात है | इसमें क्या खराबी है, लिहाज़ा इस गुलाम को खरीद लेना चाहिए |

 

गुलाम को खरीद कर घर लाना –

उस शख्स ने उस गुलाम को खरीद लिया और अपने घर ले आया | कुछ अरसे तक तो वह गुलाम ठीक – ठीक काम करता रहा, उसके बाद उस गुलाम ने अपना रंग दिखाना शुरू किया | चुगल खोरी में तो पहले से ही माहिर था और अब वो इसका तर्जुबा करना चाहा |

 

उस गुलाम का अपने आक़ा की बीवी से चुगली करना –

पहले वो गुलाम अपने आका की बीवी के पास गया और जाकर कहा के – आपके शौहर जो मेरे आका हैं, वो किसी दूसरी औरत से नाजाएज़ ताल्लुक रखते हैं और उसके पास आते जाते रहते हैं | अनक़रीब वो तुझे छोड़ कर उससे शादी कर लेंगे और मैं आपका बहुत खैरखा हूँ इसलिए आपको ये सब बता रहा हु लिहाज़ा आप किसी को ये बात मत बताना | ये बातें सुनकर वह बीवी बहुत घबराई और परेशान हुई |

फिर उस गुलाम ने उसको पेशान देखा तो बोला – इसका सिर्फ एक हल है और मेरे पास एक अच्छी तरकीब है और वो ये है के जब तुम्हारे शौहर सो जाएं तो तुम उस्तरे से उनकी दाढ़ी के एक – दो बाल काट कर अपने पास रख लेना, फिर देखना के तुम्हारे शौहर सिर्फ तुम्हारे हो जायेंगे और दूसरी औरत के तरफ नज़र भी ना उठाएंगे | उस बीवी ने कहा – ये काम तो कोई मुश्किल नहीं, ये काम तो मैं आज ही अंजाम दे दूंगी क्युकि कल को कुछ हो गया तो मेरा क्या होगा |

 

गुलाम का अपने आका को चुगली  करना  –

इसके बाद वह गुलाम अपने आका के पास आया और उससे कहा के – तुम्हारी बीवी के दुसरे मर्दों के साथ नाजाएज़ रिश्ता है और जल्द ही वो तुम्हारा सफाया कर के अपने आशिक के साथ हो लेगी और इसके लिए आज रात ही आपको उस्तरे से जिबह करने वाली है | अगर आप को मेरी बात पर यकीन न हो तो आप झूठ – मूठ का सो कर देखना और अगर उसने उस्तरे से गला न काटा तो मुझे कहना क्युकि आप मेरे आका हैं और मेरा फ़र्ज़ है के मैं आपकी जान बचाऊ |

 

चुगली खाने का  अनजाम –

जब रात हुई और सोने का वक़्त हुआ तो उस गुलाम का आका अपने बिस्तर पर गया और झूठ – मुठ का सो गया | इधर उसकी बीवी ये इंतज़ार में थी के कब उसका शौहर सोये और वो अपना काम करे | शौहर को कहाँ नींद आती लेकिन देखावे के लिए उसने झूठ – मुठ  का खर्राटे लेना शुरू किया |

बीवी को यकीन हो गया के शौहर सो चुके हैं क्यों न अपना काम किया जाये, जैसे ही उसने उस्तरा उसके दाढ़ी के करीब ही की थी के उसका शौहर फौरान जाग गया और बीवी को पकड़ कर कहा – अच्छा तो तुम मुझे ज़िबह करना चाहती थी | गुस्से से आग बबूला हुआ और उसी उस्तरे से उसने अपनी बीवी का गला काट कर मार डाला और जब बीवी के घर वाले को ये पता चला के शौहर ने हमारी बेटी का गला काट दिया तो उन लोगों ने उसका भी उस उस्तरे से गला काट कर हलाक़ कर दिया | दोनों के खानदान वाले आपस में भीड़ गए और बीस से ज्यादा लाशें गिरीं |

 

सबक –

तो सिर्फ एक चुगली की वजह से दोनों खानदान तबाह व बर्बाद हो गए | इससे पता चलता है के चुगली खाने में कितना नुक्सान है और इसीलिए शरियत ने चुगली को हराम क़रार दिया है और ये गुनाहे कबीरा है |

अल्लाह रब्बुल इज्ज़त से दुआ है के इस खतरनाक गुनाह से सब की हफाज़त फरमाए – अमीन

 

दीन की सही मालूमात  कुरआन और हदीस के पढने व सीखने से हासिल होगी |(इंशाअल्लाह)

पोस्ट को share ज़रूर करें

दुआ की गुज़ारिश

 

Comments